Thursday , 25 April 2019
Loading...
Breaking News

बृजपाल चौधरी पर इनकम टैक्स विभाग का शिकंजा

नोएडा प्राधिकरण सहायक परियोजना अभियंता बृजपाल चौधरी पर इनकम टैक्स विभाग का शिकंजा कसता जा रहा है. विभाग को मिले साक्ष्य में पता चला कि उसकी बेटी नार्वे में रहती है. इससे संबंधित दस्तावेज जब्त कर जांच की जा रही है. यदि कोई कनेक्शन निकलता तो जल्द ही मामले का राजफाश होगा. उधर, बृजपाल कैलाश अस्पताल के आइसीयू में भर्ती है. परिजन का आरोप है कि सर्च के दौरान इनकम टैक्स विभाग की टीम ने बृजपाल चौधरी पर सख्ती बरती. इससे उनकी तबीयत ज्यादा बेकार हो गई.

Image result for इनकम टैक्स विभाग का शिकंजा

अाधिकारिक सूत्र बताते हैं कि सर्च के दौरान दो बार डाक्टरों की टीम को बृजपाल चौधरी के घर पर बुलाया गया था. चेकअप के बाद ही उनसे पूछताछ की गई. इस दौरान दवाओं से लेकर खाने-पीने की हर वह उस वस्तु का ध्यान रखा गया, जो उनके सेहत पर प्रभाव न डाल सके.

वहीं, इनकम टैक्स विभाग की कार्रवाई पर प्रवर्तन निदेशालय की नजर भी है. वह विभाग से मामले की रिपोर्ट मांग सकती है. ऐसे में तफ्तीश का दायरा बढ़ सकता है. बैंक लॉकर मंगलवार या बुधवार को खोले जा सकते हैं. बृहस्पतिवार को इनकम टैक्स विभाग की टीम ने ब्रजपाल के 10 ठिकानों पर छापेमारी की थी. 38 घंटे तक सर्च के बाद कई अहम दस्तावेज बरामद हुए थे. जिसमे बृजपाल के पास अकूत संपत्ति की जानकारी मिली. उसकी प्रापर्टी नोएडा के बाहर फरीदाबाद, गाजियाबाद और मोदीनगर में भी मिली थी. इसके अतिरिक्त कई कंपनियां भी मिलीं. यह कंपनियां उसके बेटे और बेटी के नाम हैं. इनकम टैक्स विभाग दस्तावेज जब्त कर अब इनकी जांच कर रही है.

जिसमें सफेदपोशों के भी कई बड़े कनेक्शन भी निकलकर समाने आ रहे हैं. ऐसे में प्रवर्तन निदेशालय की नजर भी इनकम टैक्स विभाग की कार्रवाई पर टिकी है. वह जल्द ही इनकम टैक्स विभाग से रिपोर्ट मांग सकती है. नोएडा प्राधिकरण में पिछले दिनों में देखा गया है कि सीबीआइ की टीमों की आवाजाही तेज हो गई है. जिसने बृजपाल के करीबियों में हलचल बढ़ा दी है.

आजखुल सकते हैं लॉकर

बृजपाल के बैंकों में मिले लॉकरों को खोलने की तैयारी इनकम टैक्स विभाग द्वारा कर ली गई है. वह मंगलवार और बुधवार दोनों दिनों में कभी भी लॉकर खोल सकती है. इसमे रखे दस्तावेजों को भी खंगाला जाएगा, जिससे बहुत ज्यादा अहम जानकारी मिल सकती है.

loading...