Thursday , 25 April 2019
Loading...
Breaking News

शैलजा द्विवेदी मर्डर मामले की जांच आई सामने

सेना के मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा द्विवेदी मर्डर मामले की जांच में सामने आया है कि आरोपी मेजर निखिल राय हांडा ने कथित तौर पर फेसबुक पर एक नकली अकाउंट बनाया था. पुलिस का दावा है कि इस अकाउंट के जरिए आरोपी ने शैलजा से वर्ष 2015 में दोस्ती की थी. उस समय आरोपी की पोस्टिंग श्रीनगर में थी.

Image result for शैलजा द्विवेदी मर्डर मामले की जांच में आई सामने

पूछताछ के दौरान पुलिस ने आरोपी मेजर के दो फोन की जांच की. जिससे पता चला कि वह सोशल मीडिया पर दो अकाउंट चलाता है. जिसमें एक वास्तविक है  उसने बताया कि वह सेना में ऑफिसर है. वहीं दूसरी नकली अकाउंट में उसने खुद को दिल्ली का एक व्यापारी बताया है. पुलिस का दावा है कि वह नकली अकाउंट के जरिए दूसरी महिला के साथ भी बात करता है. उसकी कॉल रिकॉर्ड्स को खंगालने के बाद पुलिस को पता चला कि शैलजा के अतिरिक्त वह दिल्ली की रहने वाली तीन स्त्रियों के भी संपर्क में था. जिन्हें अब पुलिस ने अपने बयान दर्ज करने के लिए बुलाया है.

पुलिस सूत्रों का दावा है कि आरोपी ने पहली बार एक कॉमन फ्रेंड की टाइमलाइन पर बार शैलजा की तस्वीर देखी थी. जिसके बाद उसने 2015 में शैलजा के साथ वार्ता प्रारम्भ की थी  उसे अपनी असल पहचान 6 महीने बाद बताई थी. इसके बाद दोनों ने मिलने का फैसला लिया. सूत्रों का दावा है, इसी बीच उसका मेरठ ट्रांसफर कर दिया गया जबकि परिवार साकेत में रह रहा था. लेकिन उसने नगालैंड के दीमापुर ट्रांसफर किए जाने की गुजारिश की.जहां दोनों मिलने लगे. शैलजा ने इसके बाद हांडा की मुलाकात अपने पति अमित से करवाई. जिसके बाद वह उनके घर हाउस पार्टियों के लिए आने लगा.

पुलिस के अनुसार जब हांडा कुछ ज्यादा शैलजा की जिंदगी में दखल देने लगा तो उसने उसकी शिकायत वरिष्ठ सेना अधिकारियों से करने की धमकी थी  उसे खुद से दूर रहने के लिए कहा. आरोपी ने जांचकर्ताओं को बताया कि दो सप्ताह पहले उसने बोला था कि वह उसका न्यायालय मार्शल हो इसे सुनिश्चित करेगी. जिसके बाद शनिवार को उसने आर्मी बेस कैंप में शैलजा को मिलने के लिए बुलाया जहां उसका बेटा भी भर्ती है. दोनों के बीच कार में झगड़ा हुआ जिसके बाद उसने द्विवेदी का गला काट दिया  उसे कार से नीचे गिराकर उसे दो बार कार से कुचल दिया.

पत्नी ने कहा- हमारा खुशहाल परिवार था

आरोपी मेजर हांडा की पत्नी ने जांच में पुलिस को बताया कि उन्हें कुछ दिनों तक अपने पति पर किसी के साथ अफेयर होने को लेकर संदेह हुआ था लेकिन पति किसी तरह उसे मनाने में पास रहे थे. पत्नी ने बताया कि उन्हें अपने पति पर पूरा भरोसा था. हांडा की पत्नी ने पुलिस को बताया कि हम दोनों में कुछ भी गलत नहीं था. हमारा एक खुशहाल परिवार था.

मेरठ ही क्यों छुपा

सूत्रों के अनुसार मेजर हांडा मर्डर के बाद छुपने के लिए मेरठ कैंट गया था. वह 3 वर्ष मेरठ में तैनात रहा था. वह वहां जाकर ऑफिसर मेस में रुका. उसे लगा कि यह छुपने के लिए सबसे सुरक्षित स्थान है क्योंकि यहां पुलिस नहीं घुस सकती है. हालांकि वह बीच-बीच में मोबाइल ऑन करके इंटरनेट कॉल कर रहा था. जिसकी वजह से पुलिस को उसकी लोकेशन मिलती रही.

loading...