Friday , 16 November 2018
Loading...
Breaking News

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पाक व उत्तर कोरिया से होने वाले बढ़े हमले

2018 में हिंदुस्तान में साइबर हमलों में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वहीं पिछले वर्ष इस तरह के 53,000 हमले हुए थे. यह जानकारी सुरक्षा प्रतिष्ठान के दो अधिकारियों ने दी है.राष्ट्र की कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी) के अनुसार 2016 में 50,000  2015 में 49,000 हमले हुए हैं. लगभग 40 फीसदी हमले जनवरी-मई के बीच चाइना से हुए हैं.वहीं 25 फीसदी हमले अमेरिका से हुए हैं. सीईआरटी के अनुसार 13 फीसदी हमले पाक  9 फीसदी रूस से हुए हैं.
Image result for पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पाक व उत्तर कोरिया से होने वाले बढ़े हमले

सीईआरटी के वरिष्ठ ऑफिसर ने कहा, ‘पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पाक  उत्तर कोरिया से होने वाले हमले बढ़े हैं. राष्ट्र के वित्तीय मार्केट  परिवहन नेटवर्क पूरी तरह से आईटी नेटवर्क पर निर्भर करते हैं. साइबर हमलों की वजह से व्यापक नुकसान हो सकता है.‘ गवर्नमेंट के साथ साइबर सुरक्षा पर कार्य करने वाले भारतीय इंफोसेक कंसोर्टियम के सीईओ जितेन जैन ने कहा, ‘इंटरनेट के बढ़ने के साथ ही साइबर हमले भी बढ़ेंगे. लेकिन साइबर हमलों की रिपोर्ट हिंदुस्तान में अब भी बहुत ज्यादा कम हैं. अधिकारियों को केवल 5% साइबर हमलों की सूचना दी जाती है.

Loading...

साइबर सुरक्षा प्रतिष्ठान द्वारा पीएम ऑफिस के साथ साझा किए गए डाटा के अनुसार ज्यादातर हमलों का उद्देश्य राष्ट्र के आर्थिक नेटवर्क, सरकारी हथियारों, क्षमता प्लांट  क्षमतागाइड को नुकसान पहुंचाना होता है. सीईआरटी के अनुसार आर्थिक नेटवर्क में बढ़ोतरी इस बात का इशारा हैं कि बहुत से हमलावरों को इस बात का अहसास हो गया है कि आर्थिक मार्केट  नेटवर्क में कुछ समय के लिए किसी भी तरह की रुकावट के कारण राष्ट्र की अर्थव्यवस्था को निर्बल हो जाती है.

loading...

इस वर्ष हुए पांच में से एक हमले का उद्देश्य आर्थिक नेटवर्क को निशाना बनाया गया था. इसी अनुपात में सरकारी विभाग को भी निशाना बनाया गया. लगभग 15 फीसदी हमलों में क्षमता प्लांट, ऑयल रिफाइनरी  ऑयल  गैस पाइपलान को निशाना बनाया गया. टेलिकॉम  रक्षा संचार नेटवर्क का जगह दूसरा है. हैकर्स ने हिंदुस्तान के सबसे पुराने बैंक कॉसमॉस कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड से 89 करोड़ रुपये निकाल लिए  यह पैसे बहुत से विदेशी घरेलू बैंक में जमा करवा दिए. जांच में पता चला कि अगस्त में बैंक के सिस्टम को दो बार हैक किया गया था.

Loading...
loading...