Thursday , 25 April 2019
Loading...
Breaking News

कल हवा की गति धीमी रहने के साथ कोहरे की आशंका

दिवाली के बाद दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण के गंभीर स्तर तक पहुंचने की आशंका को देखते हुए दिल्ली में 10 नवंबर तक भारी वाहनों की इंट्री पर पाबंदी की तैयारी है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने दिल्ली सरकार व एमसीडी को दिवाली में बाद दिल्ली में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने की सलाह दी है।

सीपीसीबी के मुताबिक दिवाली के बाद 8 और 9 नवंबर को वायु प्रदूषण तेजी से बढ़ेगा। सीपीसीबी ने मंगलवार को परिवहन विभाग के साथ बैठक की। इस दौरान अधिकारियों को सलाह दी गई कि शनिवार तक भारी वाहन दिल्ली में प्रवेश न करने पाएं। इससे वाहन प्रदूषण पर रोक लगाने में मदद मिलेगी। वहीं, मंगलवार को हवा की चाल तेज होते ही दिल्ली-एनसीआर के वायु प्रदूषण में गिरावट दर्ज की गई।

दिल्ली में एक दिन में वायु गुणवत्ता सूचकांक में 98 अंकों का सुधार आने के बाद भी मंगलवार को हवा बेहद खराब रही। सिस्टम ऑफ एयर क्वॉलिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के मुताबिक मौसम में सबसे प्रभावी भूमिका हवा की रफ्तार अदा कर रही है। दिवाली पर बुधवार शाम तक आबोहवा की गुणवत्ता कमोवेश स्थिर रहेगी। इसके बाद तेजी से गिरावट आ सकती है। शुक्रवार शाम तक वायु की गुणवत्ता गंभीर स्तर पर पहुंच सकती है।

सोमवार को दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में तेजी से गिरावट आई थी। सूचकांक 426 अंक पर पहुंच गया था। सबसे ज्यादा प्रदूषण पराली जनित था। मंगलवार को भी हवा की दिशा पंजाब व हरियाणा की तरफ से दिल्ली की तरफ रही, लेकिन सोमवार की अपेक्षा हवा की रफ्तार तेज होने से प्रदूषक दिल्ली में टिक नहीं सके। इससे प्रदूषण के स्तर में तेजी से गिरावट दर्ज की गई। वायु गुणवत्ता सूचकांक 426 से घटकर 338 पर पहुंच गया। दिलचस्प यह कि पराली जलाने से पैदा हुए प्रदूषकों की मात्रा मंगलवार को 9 फीसदी के करीब थी, जबकि सोमवार को यह 29 फीसदी थी।

सफर का कहना है कि बृहस्पतिवार को मौसमी दशाएं भी खराब होंगी। 8 नवंबर की सुबह हवा धीमी रहने के साथ कोहरा भी पड़ेगा। पटाखेबाजी और खराब मौसमी दशाओं का सीधा असर वायु की गुणवत्ता पर पड़ेगा। इससे सूचकांक बेहद गंभीर स्तर पर पहुंच जाएगा। सफर का कहना है कि पटाखेबाजी न होने की स्थिति में भी वायु की गुणवत्ता का स्तर बेहद खराब रहेगा।

loading...