Monday , 10 December 2018
Loading...
Breaking News

घोषणा लेटर देखकर खोला जायेगा लिफाफा

कुछ दिनों पूर्व प्रदेश में हुए मतदान के बाद अब मतगणना की तैयारी भी प्रारम्भ हो चुकी हैं मतदान के लिये प्रदेश से बाहर फौज, सीमा सुरक्षा बल  विदेशों में स्थित दूतावासों में पदस्थ 62 हजार 172 मतदाताओं को बारकोड वाले डाक मतपत्र दिए गए हैं. मतगणना करते समय इन्हें दो बार स्कैन किया जाएगा. इसके लिए हर जिले में एक बारकोड रीडर भी मतगणना के लिये दिया गया है. भिंड, मुरैना, ग्वालियर, रीवा  सागर को छोड़कर प्रदेश के अन्य जिलों में सर्विस वोटर की संख्या बहुत ज्यादा कम है. मुख्य निर्वाचन ऑफिस की माने तो बारकोड रीड करने की वजह से नतीजे आने के समय पर कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि इस पूरी प्रकिया में कोई खास समय नहीं लगता है.

वास्तविक आदमी को मिले मतपत्र

Loading...

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ऑफिस के अनुसार इस व्यवस्था को अपनाने का सबसे बड़ा कारण असली आदमी को ही मतपत्र मिलना हैं वही अधिकारियों ने बताया सर्विस वोटरों को औनलाइन डाक मतपत्र भेजे गए थे. इसके साथ ही उन्हें एक पिन नंबर भी दिया गया था जिसका उपयोग डाक मतपत्र को डाउनलोड करने के लिये किया जायेगायह सभी मतपत्र मतगणना से एक दिन पहले यानि 10 दिसंबर तक रिटर्निंग अधिकारी को मिल जाना चाहिए.

loading...

घोषणा लेटर देखकर खोला जायेगा लिफाफा

मतगणना के समय लिफाफे पर दर्ज बारकोड के नंबर को बारकोड रीडर की सहायता से स्कैन किया जाएगा. वही यदि मतपत्र सही निकलते है तो इन्हें अलग रखा जाएगा. मतपत्र वाला लिफाफा घोषणा लेटर देखकर ही बारकोड से स्कैन कर खोला जाएगा. हालाँकि इस पूरी प्रक्रिया में कुछ समय तो जरूर लगेगा पर इसका असरपरिणाम आने के समय पर नहीं पड़ेगा

Loading...
loading...