Monday , 10 December 2018
Loading...
Breaking News

योगी का बयान ओवैसी का पलटवार 

मध्यप्रदेश, राजस्थान जैसे बड़े प्रदेशों में विधानसभा चुनाव प्रचार के शोर के बीच तेलंगाना चुनाव प्रचार भी खासा चर्चा में रहा. बड़े नेताओं के बयानों ने यहां के सियासी गलियारों में खूब तूफान मचाया. राजस्थान में चुनाव प्रचार के दौरान हनुमान की जाति बताने वाले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तेलंगाना की सियासत को गरमाने वाला बयान दे दिया. इसके अतिरिक्त बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह  कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सहित दूसरे नेताओं के बयानों ने भी खूब गर्मी पैदा की. इन नेताओं ने कैसे कैसे बयान दिए यहां पढ़िए.

योगी का बयान

तेलंगाना चुनाव प्रचार के दौरान अगर किसी ने यहां के सियासी तापमान को सबसे ज्यादा बढ़ाया तो वह थे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. योगी ने 2 दिसंबर को हैदराबाद की रैली में कहा- तेलंगाना में भाजपा की गवर्नमेंट बनी तो ओवैसी को हैदराबाद से भागना पड़ेगा. उनके इस बयान के बाद असदुद्दीन  अकबरुद्दीन ओवैसी ने भी पलटवार किया.

Loading...

ओवैसी का पलटवार

मुख्यमंत्री योगी के इस बयान के बाद ओवैसी बंधुओं की ओर से हमले का सिलसिला तेज हो गया. असदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी के साथ पीएम नरेंद्र मोदी को भीि निशाना बनाया.3 दिसंबर को ओवैसी ने कहा- मुख्यमंत्री कहते हैं कि वह हमें यहां से भगा देंगे. क्या हमें पीएम के लिए कुछ नहीं कहना चाहिए? क्या पीएम ने खुद को ईश्वर समझ लिया है. वह लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए नेता हैं  उनकी आलोचना करना हमारा संवैधानिक अधिकार है.

loading...

अकबरुद्दीन ने तोड़ी मर्यादा

आदित्यनाथ के बयान पर सबसे भड़काऊ बयान दिया अकबरुद्दीन ओवैसी ने. अकबरुद्दीन ने पीएम मोदी  मुख्यमंत्री योगी को दोनों के विरूद्ध कई आपत्तजनक बातें कहीं. हैदराबाद के चारमीनार विधानसभा एरिया में रैली को संबोधित करते हुए अकबरुद्दीन ने कहा- चाय वाले, हमें मत छेड़, चाय-चाय चिल्लाते हो, याद रखो इतना बोलूंगा कि कान में से पीप निकलने लगेगा, खून निकलने लगेगा.

अकबरुद्दीन ने मुख्यमंत्री योगी पर तंज कसते हुए कहा-आज एक  आया, वो कैसे-कैसे कपड़े पहनता है, तमाशे जैसा दिखता है. भाग्य से चीफ मिनिस्टर भी बन गया, कह रहा है निजाम की तरह ओवैसी को भगाऊंगा, अरे तू क्या, तेरी हैसियत क्या, तेरी बिसात क्या, तेरे जैसे 56 आए  चले गए, अरे ओवैसी को छोड़ो, उसकी आने वाली 1000 नस्लें भी इस मुल्क में रहेंगी  तुझसे लड़ेंगे. तेरा मुकाबला करेंगे  तेरी मुखालफत करेंगे.

सोनिया की भावुक अपील

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तेलंगान के मेडचल में अपनी पहली रैली में कहा- यह मेरे लिए भावनात्मक क्षण है, क्योंकि मैं उस मां की तरह महसूस कर रही हूं जो कई सालों के बाद अपने बच्चों से मिलने आई हो. सोनिया गांधी ने कहा- तेलंगाना को अलग राज्य का दर्जा देने वाले निर्णय के दौरान कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. यह कोई सरल फैसला नहीं था, क्योंकि मुझे आंध्र  तेलंगाना दोनों क्षेत्रों के लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखना था.

अमित शाह का बयान

दो दिसंबर को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपनी रैली में कुछ ऐसा बोला जो पूरी तरह सही नहीं था. अमित शाह ने अपने सम्बोधन में कहा- मित्रों, इन्होंने (कांग्रेस) वादा किया है मस्जिद  चर्च की बिजली माफ करेंगे, मैं उनको पूछता हूं भैया मंदिर का क्या दोष है. मंदिरों की बिजली क्यों माफ नहीं करोगे, सिर्फ मस्जिद  चर्च की ही करोगे. मैं उनसे पूछता हूं कि क्या मंदिरों ने कुछ गलत किया है? अमित शाह ने तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले के आमंगल में रैली में यह सम्बोधन दिया था.

इन बयानों की भी हुई चर्चा

इसके अतिरिक्त कुछ  बयान भी मीडिया की सुर्खियां बने. एक रैली में एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस पार्टी पर बड़ा आरोप लगाया है. निर्मल में रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा- कांग्रेस पार्टी ने मुझे यहां रैली रद्द करने के लिए 25 लाख रुपये की पेशकश की. इससे ज्यादा उनके अहंकार का सबूत  क्या होगा. मैं वो नहीं हूं जिसे खरीदा जा सकता है.

कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी तेलंगाना चुनावों में विरोधियों पर जमकर तीर छोड़े. रैलियों में तो उन्होंने विरोधियों पर खुलकर हमला कहा ही, ट्वीट के जरिए भी विपक्षियों को घेरा.राहुल ने 3 दिसंबर को ट्वीट कर कहा- पीएम नरेंद्र मोदी, टीआरएस के मुखिया के चंद्रशेखर राव  एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी एक ही हैं. ओवैसी की एआईएमआईएम बीजेपी की सी टीम है, जिसका कार्य है भाजपा/केसीआर विरोधी मतों को तोड़ना.

Loading...
loading...