Friday , 22 February 2019
Loading...

ब्राउन राइस के सेवन से दूर होती है हृदय रोग की बीमारी

दोस्तों भूरे चावल में प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है। फाइबर अधिक होने के कारण भूरे चावल खाने वाले व्यक्ति को कभी भी कब्ज की शिकायत नहीं होती है और फाइबर शरीर के लिए नुकसानकारी कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। शरीर में आप के कैंसर को निर्माण करने वाले घातक रसायनिक तत्वों को बाहर निकालने का काम भी ब्राउन राइस बहुत अच्छी तरीके से करते हैं। दोस्तों इसके अलावा ब्राउन राइस में मौजूद सेलेनियम हमें कैंसर, हृदय रोग और आस्थमा जैसे भयंकर रोगों से भी बचाता है। एक कप भूरे चावल में उपलब्ध मैग्नीज हमारे शरीर को रोजाना मैग्नीज की 80% जरूरत को पूरा कर देती है। हमारे शरीर के तंत्रिका तंत्र प्रणाली को सुचारू रूप से काम करने के लिए मैग्नीज बहुत ही आवश्यक होती है इसके अलाबा इसमें नेचुरल ऑयल भी काफी मात्रा में उपलब्ध होता है जो शरीर से कोलेस्ट्रॉल की समस्या को समान रखने और इसे समाप्त करने के लिए भी बहुत ही लाभदायक होता है।

 

अगर ब्राउन राइस को महीने में सिर्फ 3 दिन सेवन किया जाय तो हृदय रोग की बीमारी होने का खतरा बिल्कुल नहीं रहता है। जिन व्यक्तियों का वजन बढ़ा हुआ है उनके लिए भूरे चावल किसी वरदान से कम नहीं होते हैं क्योंकि भूरे चावल में फाइबर होने के कारण इसे खाने से अधिक कैलोरीज नहीं मिलती हैं और पेट भी काफी समय तक भरा हुआ महसूस होता है। इस प्रकार आवश्यकता से अधिक खाने से बचा जा सकता है। आपको बता दें की भूरे चावल में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति को बढ़ाने के साथ शरीर को हमेशा स्वस्थ और बुढ़ापे से दूर रखने के लिए जरूरी होते हैं। भूरे चावलों में एंटीऑक्सीडेंट अच्छी मात्रा में होने के कारण इसका सेवन जरूर करना चाहिए। इसके अलावा भूरे चावल ब्लड शुगर, हड्डियों की मजबूती, अस्थमा, बच्चों का आहार एवं महिलाओं के छाती के कैंसर को भी रोकते हैं। इसलिए इस चावल को जरूर सेवन करना चाहिए जिससे आपको 70 साल तक ताकत बनी रहेगी और आप कई भयंकर बीमारियों से भी बचकर रहेंगे।

loading...