Thursday , 17 January 2019
Loading...
Breaking News

वेजाइनल इंफेक्शन से लेकर वेजाइना डिस्चार्ज जैसी कई समस्याएं बढ़ा देते है ये फूड्स

वेजाइनल इंफेक्शन से लेकर वेजाइना डिस्चार्ज जैसी कई समस्याएं फीमेल्स के साथ जुड़ी रहती हैं। ईस्ट इंफेक्शन और यूटीआई का कारण केवल पब्लिक टॉयलेट यूज करना ही नहीं होता। कई बार गलत डाइट भी इसकी वजह बनती है जिससे परेशानी खड़ी हो जाती है।

Loading...

तो आइए आज आपको उन फूड्स और ड्रिंक्स के बारे में बताते हैं जिन्हे आप आए दिन खाती हैं और आपको पता नहीं होता कि इनके कारण ही आपकी वेजाइना की दिक्कत बढ़ती है। खास बात ये है कि कुछ फूड्स ऐसे हैं जिन्हे आप हेल्दी समझ कर खा रही होंगी लेकिन ये आपकी वेजाइना के लिए हेल्दी नहीं होता।

loading...

ब्रोकली : ब्रोकली का नाम सुन कर आप हैरान जरूर होंगी लेकिन ये सच है कि ये आपकी वेजाइना की दुश्मन है। ब्रोकली खाने से आपकी वेजाइनल ओडर में बदलाव आता है और काफी दिनों बाद वेजाइना ओडर पूरी तरह से बदल जाती है। इसलिए ब्रोकली लीमिट में खाएं। इंटिमेट पलों से पहले ब्रोकली का सेवन बिल्कुल न खाएं।

फ्राइड फूड्स : चिप्स, फ्राइड राइस, फ्राइड नूडल्स जैसे फ्राइड आइट्म्स रोज खाने की आदि हैं तो संभल जाएं। इन में मौजूद फैट्स बैक्टीरियल वेजाइनोसिस की समस्या पैदा करता है। सीमित मात्रा में इसे खाना नुकसान नहीं करेगा लेकिन ज्यादा खाना खतरा पैदा करेगा।

एल्कोहल : एल्कोहल पीने से डिहाइड्रेशन की समस्या होती है और अगर आप रेग्युलर ड्रिंक करती हैं तो ये आपके लिए अच्छा साइन नहीं। क्योंकि इससे आपकी वेजाइना भी ड्राइनेस की शिकार हो सकती है। ड्रिंक के कारण वेजाइना का लुब्रिकेशन डिस्टर्ब होने लगता है।

मीठे खाद्य पदार्थ : मीठा खाना हर किसी को पसंद होता है। लेकिन महिलाओं को एक समय के बाद मीठा खाना कम कर देना चाहिए। क्योंकि शरीर में शुगर लेवल बढ़ने से वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। शुगर का सेवन यीस्ट इंफेक्शन के बैक्टीरिया के लिए एनवायरमेंट तैयार कर देता है।

प्याज : प्याज अधिक खाने से सांसों की दुर्गंध जिस तरह से होती है उसी तरह से वेजाइन ओडर की समस्या होती है। प्याज के सेवन से वेजाइना में मौजूद बैक्टीरिया में बदलाव होते हैं जिससे वेजाइनल ओडर में भी बदलाव होते हैं।

Loading...
loading...