Friday , 22 March 2019
Loading...

प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले लगे अखिलेश-मायावती के पोस्टर

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती आज दोपहर 12 बजे एक साझा पत्रकार वार्ता करेंगे। माना जा रहा है इसमें लोकसभा चुनावों में महागठबंधन की सीटों को लेकर घोषणा हो सकती है। इस आशय की जानकारी शुक्रवार सुबह बसपा के महासचिव सतीश मिश्रा और सपा सचिव राजेंद्र चौधरी ने एक साझा बयान में दी। यह पत्रकार वार्ता शनिवार दोपहर शहर के पांच सितारा होटल में आयोजित होनी है। इससे पहले शनिवार सुबह लखनऊ में जगह-जगह सपा और बसपा के समर्थकों ने पोस्टर लगाए है। इन पोस्टर में कई नारे लिखे है, जैसे – हमारा काम बोलता है, भाजपा का झूठ बोलता है।

बता दें कि हाल ही में दोनों दलों के नेताओं ने दिल्ली में भेंट कर लोकसभा चुनावों में महागठबंधन के स्वरूप पर चर्चा की थी। सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटों में से सपा और बसपा की योजना 37-37 सीटों पर चुनाव लड़ने की है। इसके अलावा राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) को भी दो या तीन सीटें देने की चर्चा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सीट अमेठी और सोनिया गांधी की सीट रायबरेली पर महागठबंधन अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगा। वही, निषाद पार्टी को भी महागठबंधन में शामिल किया जा सकता है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इससे पहले कहा कि शनिवार को होने वाली गठबंधन की घोषणा में सिर्फ सपा और बसपा होंगी। कांग्रेस के बारे में उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में कांग्रेस का भले ही दबदबा हो लेकिन उत्तर प्रदेश में इस पार्टी की हालत मजबूत नहीं है। एसपी-बीएसपीके गठबंधन में जब कांग्रेस को रखने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वे इस पर अभी टिप्पणी नहीं करेंगे। इसके अलावा उन्होंने सीटों के बंटवारे पर भी कुछ टिप्पणी करने से इनकार किया।

आपको बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश की 80 सीटों में से भारतीय जनता पार्टी गठबंधन ने 73 सीटें जीती थीं और इस बार उसके नेता 73 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं। बसपा-सपा और रालोद ने साथ मिलकर उपचुनाव लड़ा था जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सीट और उप मुख्यमंत्री की फूलपुर सीट से सपा प्रत्याशियों को जीत मिली थी। जबकि कैराना सी

loading...