Thursday , 17 January 2019
Loading...
Breaking News

आलोक वर्मा को पद से हटाए जाने के तरीके पर उठे सवाल, नए CBI निदेशक की शुरू हुई तलाश

केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर आलोक वर्मा ने पद से हटाए जाने के तरीके पर सवाल उठाते हुए नई जिम्मेदारी स्वीकार करने से इनकार कर दिया। उन्होंने शुक्रवार को नौकरी से इस्तीफा भी दे दिया। आलोक वर्मा के इस्तीफे के बाद सीबीआई के नए डायरेक्टर की तलाश शुरू हो गई है। नियमों के मुताबिक, सीबीआई डायरेक्टर के रिटायर होने के एक महीने पहले से ही उनके उतराधिकारी की तलाश शुरू कर दी जाती है। सूत्रों की मानें, तो मुख्य सतर्कता आयुक्त (CVC) ने 10 अधिकारियों का एक पैनल तैयार किया है, जिसमें 1983, 1984, 1985 बैच के अधिकारी शामिल हैं।

Loading...

लिस्ट में नीरा मित्रा के अलावा उत्तर प्रदेश कैडर के 1983 राजीव राय भटनागर का नाम भी शामिल है। भटनागर इस समय सीआरपीएफ के जनरल डायरेक्टर हैं। उत्तर प्रदेश कैडर के 1984 बैच के अधिकारी रजनीकांत मिश्रा भी सीवीसी की लिस्ट में जगह बनाने में कामयाब हुए हैं। मिश्रा इस समय बीएसएफ के जनरल डायरेक्टर की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। 1984 बैच के आसम-मेघालय कैडर के वाईसी मोदी का नाम भी सीबीआई डायरेक्टर की लिस्ट में शामिल है।

loading...

दरअसल, अगर सरकार राकेश अस्थाना को सीबीआई में स्पेशल डायरेक्टर बनाए रखना चाहती है, तो वाईसी मोदी की राह थोड़ी मुश्किल हो सकती है। क्योंकि, अस्थाना और वाईसी मोदी दोनों 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। सरकार के करीबी सूत्र राकेश अस्थाना को सीबीआई डायरेक्टर बनने की संभावना से इनकार नहीं कर रहे हैं, लेकिन दिल्ली हाईकोर्ट ने एफआईआर रद्द न कर आगे जांच के आदेश देकर उनकी राह मुश्किल कर दी है। अब सीबीआई कि नियुक्ति में सरकार उस नाम को आगे बढ़ाएगी, जिस पर भारत के मुख्य न्यायधीश की सहमति हो, क्योंकि चुनावी साल में सरकार से सीबीआई डायरेक्टर की नियुक्ति में कांग्रेस से आम सहमति की उम्मीद नहीं कर सकती।

ऐसे में वाईसी मोदी या किसी और 1984 बैच के अधिकारी सीबीआई डायरेक्टर बनने पर राकेश अस्थाना को सीबीआई से बाहर जाना पड़ेगा। वर्तमान में जनरल डायरेक्टर वीसीएस को छोड़कर डीजी रैंक का कोई पद खाली नहीं है। वाईसी मोदी के सीबीआई डायरेक्टर होने पर एनआईए के जनरल डायरेक्टर का पद भी खाली हो जाएगा। राकेश अस्थाना के पास इस बार सीबीआई डायरेक्टर बनने का एक और मौका होगा, क्योंकि जो भी सीबीआई का डायरेक्टर बनाया जाएगा, उसका कार्यकाल जनवरी 2021 में खत्म हो जाएगा. जबकि राकेश अस्थाना का रिटायरमेंट जुलाई 2021 में है।

Loading...
loading...