Thursday , 17 January 2019
Loading...
Breaking News

एंटी करप्शन टीम ने जिला पंचायतीराज अधिकारी को 20 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में एंटी करप्शन टीम ने जिला पंचायतीराज अधिकारी को उनके आवास पर 20 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा। यह रकम एक ग्राम प्रधान ने वित्तीय स्वीकृति के लिए दी थी। एंटी करप्शन ने डीपीआरओ को कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया।

Loading...

जानकारी के अनुसार, मामला औरैया जिले के बेला थाना क्षेत्र की सहार विकासखंड की ग्राम पंचायत पट्टी तोरना का है। ग्राम प्रधान रामविलास चार दिनों से इंटरलॉकिंग सड़क की वित्तीय स्वीकृति के लिए डीपीआरओ कमल किशोर के चक्कर काट रहे थे। डीपीआरओ ने स्वीकृति देने के लिए 20 हजार रुपये की मांग की। प्रधान ने एंटी करप्शन से शिकायत की।

loading...

एंटी करप्शन की टीम ने डीपीआरओ को पकड़ने के लिए पूरा जाल बिछाया। जिसके तहत ग्राम प्रधान शुक्रवार शाम नारायनपुर स्थित डीपीआरओ के आवास पर गए। वह रुपये दे ही रहे थे, तभी कानपुर की एंटी करप्शन टीम में इंस्पेक्टर शंभूनाथ तिवारी, बीएस दोहरे, राकेश त्रिपाठी, अभिषेक तिवारी पहुंचे और डीपीआरओ को घूस लेते पकड़ लिया। एंटी करप्शन के इंस्पेक्टर शंभूनाथ तिवारी ने बताया कि अभी जांच-पड़ताल चल रही है। वहीं, डीपीआरओ का कहना है कि उन्हें फंसाया गया है।

Loading...
loading...