Thursday , 25 April 2019
Loading...
Breaking News

सपा-बसपा साझेदारी में सीटों के बंटवारे हुए, एटा लोकसभा सीट इसके पाले में

उत्तर प्रदेश का एटा लोकसभा एरिया अलीगढ़ डिवीजन का भाग है एटा में उर्दू के मशहूर कवि धनी खुसरो का जन्म हुआ था हिन्दू पौराणिक कथा के अनुसार यहां ईश्वरविष्णु के तीसरा रूप यानी कि ‘वराह अवतार’ अवतीर्ण हुआ था वर्ष 2014 में हुए चुनाव में यहां से प्रदेश के पूर्व CM कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते थे 1980 के बाद कांग्रेस पार्टी इस सीट पर फतह हासिल नहीं कर पाई है   सपा-बसपा साझेदारी में सीटों के बंटवारे हुए, एटा लोकसभा सीट सपा के पाले में है

2014 का समीकरण

वर्ष 2014 में ये सीट सपा प्रत्याशी देवेंद्र सिंह यादव को बड़े अंतर से पराजित कर जीती थी भाजपा के राजवीर सिंह को जनता ने 4,74,978 रिकार्ड मत मिले थे जबकि सपा प्रत्याशी देवेंद्र सिंह यादव को 2,73,977 मत मिले थे वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में इस सीट पर समाजवादी पार्टी दूसरे नंबर पर, बसपा तीसरे नंबर पर रही थी

ये है राजनीतिक इतिहास
एटा में पहला चुनाव कांग्रेस पार्टी ने जीता था लेकिन उसके बाद यहां से हिंदू महासभा वर्ष 1957  1962 में जीत दर्ज की थी हालांकि, उसके बाद वर्ष 1967  1971 का चुनाव जीत कांग्रेस पार्टी ने यहां से वापसी की लेकिन 1977 में चली कांग्रेस पार्टी विरोधी लहर में चौधरी चरण सिंह की इंडियन लोकदल ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी 1980 के हुए चुनाव में यहां से आखिरी बार कांग्रेस पार्टी जीत पाई थी 1984 में लोक दल के जीत दर्ज करने के बाद ये सीट बीजेपी के खाते में गई 1989, 1991, 1996  1998 में यहां भाजपा के महकदीप सिंह शाक्य ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी 1999  2004 एटा से लगातार दो बार समाजवादी पार्टी का परचम लहराया 2009 के लोकसभा चुनाव में पूर्व CM कल्याण सिंह ने भाजपा से अलग हो अपनी पार्टी बना यहां से चुनाव लड़ा  जीता

loading...